8.1 C
New York
Tuesday, January 31, 2023

PFI के खिलाफ NIA की कार्रवाई के बाद तमिलनाडु में कई स्थानों पर पेट्रोल बम फेंके गए, BJP, RSS कार्यकर्ताओं की संपत्तियों को निशाना बनाया गया

कोयंबटूर: पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के खिलाफ राज्य सहित देशभर में राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) की कार्रवाई के मद्देनजर तमिलनाडु में कई स्थानों पर पेट्रोल बम फेंकने की घटनाएं हुईं हैं. डिंडुगुल और चेंगलपेट सहित विभिन्न जिलों में रात भर की घटनाओं में भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ताओं और उनके समर्थकों की संपत्तियों को भी निशाना बनाए जाने की खबरें हैं. इसके बाद के मुख्य सचिव वी. इरियनबु ने शनिवार को शीर्ष अधिकारियों के साथ कोयंबटूर में कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा की.Also Read – BJP का मुकाबला करने के लिए नई कल्पना वाली कांग्रेस की जरूरत, हमारे बीच मतभेद नहीं: शशि थरूर

पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के खिलाफ राज्य सहित देशभर में राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) की कार्रवाई के मद्देनजर कई स्थानों पर पेट्रोल बम फेंकने की पृष्ठभूमि में मुख्य सचिव ने कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा की. Also Read – पंजाब में भगवंत मान सरकार ने विश्वास मत जीता, AAP ने बीजेपी के 'ऑपरेशन लोटस' पर साधा निशाना

डिंडुगुल और चेंगलपेट सहित विभिन्न जिलों में रात भर की घटनाओं में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के कार्यकर्ताओं और उनके समर्थकों की संपत्तियों को भी निशाना बनाये जाने की खबरें हैं. शहर से कई घटनाओं की सूचना मिलने के बाद, अतिरिक्त बलों की तैनाती के साथ सुरक्षा बढ़ा दी गई थी. Also Read – पाकिस्तान ने 'आतंकवाद विशेषज्ञ' संबंधी विदेशमंत्री जयशंकर के बयान को खारिज किया, उल्टा भारत पर ही दोष मढ़ा

#WATCH | Tamil Nadu: Three petrol bombs were thrown and we are investigating in this regard. No one was injured and damaged in the accident: Shanmugam, Assistant Commissioner on petrol bomb hurled at the house of an RSS member in Madurai

(CCTV Visual Source: Local Police) pic.twitter.com/qxOBjGmg3y

— ANI (@ANI) September 24, 2022

मदुरै में आरएसएस के एक सदस्य के घर पर पेट्रोल बम फेंके गए सहायक आयुक्त शनमुगम ने कहा, तीन पेट्रोल बम फेंके गए और हम इस संबंध में जांच कर रहे हैं. दुर्घटना में कोई घायल या क्षतिग्रस्त नहीं हुआ.

शनिवार को इरियनबु ने कोयंबटूर के जिलाधिकारी जी. एस. समीरन, शहर के पुलिस आयुक्त वी. बालकृष्णन, पश्चिम क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) आर. सुधाकर और पुलिस अधीक्षक वी. बद्रीनारायण के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से स्थिति की समीक्षा की.

समीरन ने पत्रकारों से कहा कि मुख्य सचिव ने पिछले दो दिनों में हुई घटनाओं सहित सात घटनाओं के बारे में जिलाधिकारियों और 17 जिलों के शीर्ष पुलिस अधिकारियों के साथ स्थिति की समीक्षा की. उन्होंने कहा कि इन सात घटनाओं में कोई हताहत या संपत्ति का बड़ा नुकसान नहीं हुआ है, इसलिए नागरिकों को भयभीत होने की कोई जरूरत नहीं है.

समीरन ने कहा कि प्रशासन और पुलिस विभाग ने मुस्लिम और हिंदू प्रतिनिधियों के साथ सांप्रदायिक सद्भाव बनाए रखने के प्रयास के तहत बैठकें आयोजित की हैं.

दक्षिणपंथी संगठन के सदस्यों पर हमलों के सिलसिले में बदमाशों की गिरफ्तारी में देरी के सवाल पर बालकृष्णन ने कहा कि पुलिस ने कुछ अपराधियों की पहचान की है और कुछ दिनों में कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि इन मामलों में शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी.

बालकृष्णन ने कहा कि शहरभर में 3,500 पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है और पुलिस विभाग राज्य के सीमावर्ती क्षेत्रों और चौकियों पर लोगों की आवाजाही पर नजर रख रहा है, खासकर बाहर से आने वालों पर।

समीरन ने कहा कि ऐसे लोगों पर नजर रखने और प्रशासन को सतर्क करने के लिए एक विशेष टीम का गठन किया गया है. इस बीच, सहायक पुलिस आयुक्त (खुफिया) मुरुगावल का तबादला कर दिया गया है.

चेन्नई में भाजपा की तमिलनाडु इकाई के अध्यक्ष के. अन्नामलाई ने आरोप लगाया कि पीएफआई के खिलाफ छापेमारी के बाद उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं को बेवजह निशाना बनाया जा रहा है. उन्होंने पूछा, पुलिस क्या कर रही है.

हमलों के पीछे पीएफआई का हाथ होने का संकेत देते हुए उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य ने राष्ट्रीय अखंडता के हित में संगठन के खिलाफ कार्रवाई की. बाद में दिन में, अन्नामलाई ने कहा कि उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को तमिलनाडु में बिगड़ती कानून व्यवस्था की स्थिति पर एक पत्र लिखा है. उन्होंने शाह को भेजे गए पत्र की एक प्रति साझा की.

अन्नामलाई ने एक ट्वीट में आरोप लगाया, पेट्रोल बम, निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचाना राष्ट्रविरोधी ताकतों के लिए आदर्श बन गया है. अन्नामलाई ने पत्र में कहा कि पिछले कुछ दिनों में पार्टी के कुछ समर्थकों और उनके परिवारों को अनावश्यक परेशानी का सामना करना पड़ा क्योंकि पेट्रोल बम से हमले किए गए और कारों, कार्यालयों और अन्य संपत्तियों को आग लगा दी गई. (इनपुट-भाषा)

Related Articles

Stay Connected

1,520FansLike
4,561FollowersFollow
0FollowersFollow

Latest Articles