11.8 C
New York
Wednesday, February 8, 2023

चाणक्य नीति: किसी भी महिला या पुरुष को वश में करने के ये हैं तरीके, लोग हो जाएंगे आपके कायल

महान अर्थशास्त्री आचार्य चाणक्य ने चाणक्य नीति में मुश्किल से मुश्किल परेशानी को आसानी से पार करने के तरीके बताये हैं. चाणक्य नीति में ये बताया गया है कि संसार में कोई भी आपके साथ बिना स्वार्थ के नहीं है और आपका स्वभाव ही है जो आपको गुलाम बना देता है. आचार्य चाणक्य ने बहुत सारी ऐसी नीतियों का उल्लेख किया है, जिन पर अमल करने से खुशहाल जीवन यापन किया जा सकता है. चाणक्य के अनुसार व्यक्ति को वश में करके हम उनसे कोई भी कार्य करवा सकते हैं. चाणक्य ने अपनी नीति में बताया है कि कुछ खास लोगों को कैसे वश में किया जा सकता है.Also Read – चाणक्य नीति: दूसरों को भुगतनी पड़ती है इन 4 लोगों के पाप की सजा, आप भी हमेशा रखें ध्यान

लुब्धमर्थेन गृह्णीयात् स्तब्धमंजलिकर्मणा।
मूर्खं छन्दानुवृत्त्या च यथार्थत्वेन पण्डितम्।। Also Read – चाणक्य नीति: इन पवित्र चीजों को खाने के बाद भी व्यक्ति कर सकता है पूजा-पाठ, जानें क्या है वो बातें

1. आचार्य चाणक्य ने इस श्लोक में बताया है कि लालची, अहंकारी, मूर्ख और बुद्धिमान लोगों को कैसे वश में किया जा सकता है. Also Read – चाणक्य नीति: काबिल लीडरशिप की निशानी होती हैं ये चार चीजें, विरोधी भी बन जाता है मुरीद

2. चाणक्य के अनुसार लालची व्यक्ति को सरलता से वश में किया जा सकता है. लालची व्यक्ति धन की प्राप्ति के लिए सही-गलत में भेद नहीं कर पाता इसलिए उसे पैसा देकर वश में किया जा सकता है.

3. अहंकारी व्यक्ति हर समय दूसरों को नीचा दिखाने का प्रयास करता रहता है. ऐसे व्यक्ति के सामने हाथ जोड़कर मान-सम्मान देकर सरलता से वश में किया जा सकता है।. अहंकारी व्यक्ति सम्मान से प्रसन्न होता है और वह हमारे वश में आ जाता है.

4. मुर्ख व्यक्ति को सरलता से वश में किया जा सकता है, चाणक्य के अनुसार मूर्ख व्यक्ति के मुताबिक कार्य करके उसे वश में किया जा सकता है. मूर्ख व्यक्ति की प्रशंसा करने से वह हमारे वश में रहेगा और हमें परेशान नहीं करेगा.

5. अन्य लोगों की अपेक्षा बुद्धिमान को वश में करना कठिन होता है. ऐसे लोगों को वश में करने के लिए हमें भी बुद्धिमता से काम लेना चाहिए. बुद्धिमान लोगों के सामने नीतियों औ ज्ञान की बातें करने से उनको वश में किया जा सकता है.

(Disclaimer: यह सभी बातें चाणक्य नीति से मिली जानकारियों पर आधारित हैं. India.com Hindi इनकी पुष्टि नहीं करता है.)

Related Articles

Stay Connected

1,520FansLike
4,561FollowersFollow
0FollowersFollow

Latest Articles