7.9 C
New York
Tuesday, January 31, 2023

Duleep Trophy Final: यशस्वी जायसवाल की डबल सेंचुरी ने वेस्ट जोन से छीना शिकंजा, 319 रन की बढ़त

दलीप ट्रॉफी के फाइनल मैच में शुरुआती दो दिन दबाव में रहने के बाद मैच के तीसरे दिन वेस्ट जोन ने दमदार वापसी करते हुए मैच पर अपना शिकंजा कस लिया है. उसने साउथ जोन की पहली पारी को आज 327 रन पर समेट दिया. इसके बाद अपनी दूसरी पारी में वेस्ट जोन ने अपना दमखम झोंकते हुए साउथ जोन के गेंदबाजों की खबर लेनी शुरू कर दी.Also Read – Irani Cup 2022: सिर्फ 98 रनों पर ढेर हुई सौराष्ट्र की टीम, ROI के इन तीन गेंदबाजों ने मचाया कहर

ओपनिंग पर उतरे यशस्वी जायस्वाल ने अपना नैसर्गिक खेल दिखाते हुए दोहरा शतक जड़ दिया और वह दिन का खेल खत्म होने तक 209 रन बनाकर क्रीज पर नाबाद थे. उनके साथ सरफराज खान (30*) क्रीज पर थे. मैच के चौथे दिन पश्चिम जोन की टीम इस बढ़त को और आगे ले जाकर मैच पर जीत का दावा ठोकना चाहेगी. Also Read – Syed Mushtaq Ali Trophy: रहाणे बने मुंबई के टी20 कप्‍तान, ये धाकड़ IPL स्‍टार भी टीम का हिस्‍सा

दलीप ट्रॉफी फाइनल का यह 5 दिवसीय मैच है. मैच के तीसरे दिन वेस्ट जोन ने 3 विकेट पर 376 रन बना लिए हैं और अब उसके पास 319 रन की बढ़त है. जायसवाल ने 244 गेंदों की अपनी नाबाद पारी में 23 चौके और 3 छक्के जड़े. जायसावल ने इस दौरान तीसरे विकेट के लिए श्रेयस अय्यर (71) के साथ 169 रन की साझेदारी की. Also Read – दलीप ट्रॉफी फाइनल मैच के दौरान स्लेजिंग कर रहे यशस्वी जायसवाल को कप्तान अजिंक्य रहाणे ने मैदान से बाहर भेजा

WHAT. A. KNOCK! 👌 👌

2️⃣0⃣0⃣ for @ybj_19! 🙌 🙌

This has been an outstanding batting display by the youngster! 👏 👏#DuleepTrophy | #Final | #WZvSZ | @mastercardindia

Follow the match ▶️ https://t.co/NAjd4WxZRR pic.twitter.com/36orpdlRj5

— BCCI Domestic (@BCCIdomestic) September 23, 2022

इन दोनों की बेहतरीन बल्लेबाजी की बदौलत पहली पारी में 57 रन से पिछड़ने के बावजूद टीम अब दमदार वापसी कर चुकी है, जबकि उसके अभी 7 विकेट शेष है. आज दिन का खेल शुरू होने पर दक्षिण जोन ने 318/7 रन से आगे खेलना शुरू किया लेकिन 327 रन पर वह ऑल आउट हो गई. वह आज सिर्फ अपनी पहली पारी में 9 रन ही और जोड़ पाई.

पहली पारी में महज एक रन बनाने वाले जायसवाल ने दूसरी पारी में सकारात्मक शुरुआत करते हुए तेज गेंदबाज बासिल थंपी और सीवी स्टीफन के खिलाफ तेजी से रन जुटाए. उन्होंने पहले विकेट के लिए प्रियांक पंचाल (40) के साथ पांच रन प्रति ओवर के हिसाब से 110 रन की साझेदारी की.

साउथ जोन के कप्तान हनुमा विहारी ने शानदार लय में चल रहे साई किशोर (2/100) को आक्रमण में लगाने में देरी की. साई किशोर ने हालांकि गेंद से जिम्मा संभालते ही पंचाल को चलता किया. इसके बाद कृष्णप्पा गौतम (1/139) ने अजिंक्य रहाणे (15) का विकेट चटकाया. कप्तानी रहाणे ने एक बार फिर बल्ले से निराश किया.

जायसवाल और अय्यर ने इसके बाद बल्लेबाजी के लिए आसान हुई परिस्थितियों का फायदा उठाते हुए स्पिनरों के खिलाफ मन मुताबिक रन बटोरे. अय्यर ने 113 गेंद की पारी में चार चौके और दो छक्के जड़े.

बल्लेबाजी के लिए परिस्थिति आसान होने के बाद पश्चिम क्षेत्र दिन में एक और सत्र में बल्लेबाजी कर पारी घोषित करने की कोशिश करेगा ताकि उसके गेंदबाजों को साउथ जोन के 10 विकेट चटकाने के लिए पांच सत्र मिले. साउथ जोन को खिताब जीतने के लिए कम से कम इस मैच को ड्रॉ करना होगा. टीम लक्ष्य का पीछा कर या पहली पारी में बढ़त के आधार पर खिताब जीत सकती है.

Related Articles

Stay Connected

1,520FansLike
4,561FollowersFollow
0FollowersFollow

Latest Articles