10.4 C
New York
Wednesday, February 8, 2023

कोरोना को लेकर आई यह अच्छी खबर! तो क्या नजदीक है महामारी का अंत?

क्या कोविड महामारी से प्रभावित हमारे जीवन का सबसे बुरा दौर बीत चुका है? कुछ वैज्ञानिकों का यही मानना है. वैज्ञानिकों का मानना है कि महामारी भले ही खत्म हो गई है, लेकिन कोविड हमारे बीच मौजूद रहेगा. भारत और दुनियाभर में संक्रमण के मामले धीरे-धीरे घट रहे हैं. बीमारी के इस वर्तमान स्वरूप में संक्रमण के मामले न तो तेजी से बढ़ रहे हैं और न ही एकदम से घट रहे हैं. अशोक विश्वविद्यालय में भौतिकी और जीव विज्ञान विभाग में प्रोफेसर गौतम मेनन ने कहा, ‘इन मामलों का बेहद छोटा हिस्सा भी मौत को दावत दे सकता है. यह एक नयी परिस्थिति होगी जिसके लिए हमें तैयार रहना चाहिए.’ महामारी की शुरुआत से ही संक्रमण के मामलों का अध्ययन कर रहे मेनन ने कहा, ‘दुनिया हमेशा स्थायी रूप से बेहद सतर्क रहने की स्थिति में नहीं चल सकती.’Also Read – Top News of the Day: मुलायम की हालत नाजुक, कोहली टीम से क्यों हुए बाहर, क्या कंगना रनौत चुनाव लड़ेंगीं? बड़ी ख़बरें

कोविड-19 को अंतरराष्ट्रीय आपातकाल घोषित किये जाने के दो साल से ज्यादा समय बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन अब यह कहने की स्थिति में है कि कोविड-19 महामारी का अंत नजदीक है. WHO के महानिदेशक टेडरोस आधानोम घेबरेसस ने संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक से इतर गुरुवार को कहा, ‘हमने ढाई साल एक लंबी अंधेरी सुरंग में बिताए हैं. हम अब उस सुरंग के अंत में प्रकाश की महज एक किरण देखने में कामयाब हुए हैं.’
उन्होंने कहा, ‘लेकिन अभी बहुत दूर जाना है और सुरंग अब भी अंधेरी है. अगर हमने सावधानी नहीं बरती तो आगे बहुत से अवरोध हैं जिनसे टकरा कर हम गलती कर सकते हैं.’ Also Read – Tomato Flu: जानिए टोमाटो फ्लू क्या है, इसके लक्षण, कारण, बचाव और इलाज

टेडरोस ने बीते हफ्ते प्रेस वार्ता में कहा था कि महामारी के अंत को लेकर दुनिया अब बेहतर स्थिति में है. उन्होंने कहा, ‘हम अभी वहां पहुंचे नहीं हैं लेकिन अंत नजदीक दिख रहा है.’ मेनन ने कहा, ‘यह निश्चित ही एक संकेत है कि महामारी के एक बड़े दौर का अंत हो रहा है लेकिन हमें इस पर भी ध्यान देना होगा कि इस ‘अंत’ की व्याख्या हम कैसे करते हैं.’ Also Read – Top News of the Day: रेलवे कर्मियों को खुशखबरी, चुनाव लड़ी ये एक्ट्रेस Bigg Boss पहुंची, सूर्य ने सरफराज को लेकर क्या कहा? बड़ी ख़बरें

महामारी विशेषज्ञ रमनन लक्ष्मीनारायण ने इससे सहमति जताते हुए कहा कि जब तक लोग टीका लगवा रहे हैं कोविड का खतरा कम है इसलिए उन्हें महामारी को लेकर चिंता नहीं करनी चाहिए. वाशिंगटन में सेंटर फॉर डिजीज डायमानिक्स, इकोनॉमिक्स एंड पॉलिसी (सीडीडीईपी) के निदेशक लक्ष्मीनारायण ने कहा, ‘टीकाकरण और जनसंख्या के बड़े हिस्से के प्रभावित होने के कारण अस्पताल पहुंचने और मौत का खतरा कम हुआ है.’

WHO के कोरोना वायरस आंकड़ों के अनुसार, 22 सितंबर को दुनियाभर में महामारी से 1,395 मरीजों की मौत हुई जो मार्च 2020 से अब तक हुई दैनिक मौतों की सबसे कम संख्या थी. उसी दिन संक्रमण के 4,28,321 नए मामले सामने आए थे जो अक्टूबर 2020 के बाद सामने आए मामलों में सबसे कम थे.

(इनपुट: भाषा)

Related Articles

Stay Connected

1,520FansLike
4,561FollowersFollow
0FollowersFollow

Latest Articles