10.4 C
New York
Wednesday, February 8, 2023

Pakistan: पाकिस्तान का नया दांव-भारत हमारा पड़ोसी है और हम हमेशा साथ रहेंगे, शांति से रहें या लड़ें-चुनाव हमारा है

Pakistan: पाकिस्तान को अब शांति की सूझ रही है, कभी वो भारत के साथ रिश्ते नहीं सुधर सकते कहता है तो कभी कहता है हम पड़ोसी हैं, हमेशा साथ रहेंगे. उसने संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर का मुद्दा बार-बार कई तरह से उठाया है. भारतीय समयानुसार शुक्रवार की देर रात यूएनजीए की बैठक में बोलते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने शांति की अपील की  और कहा कि भारत को रचनात्मक जुड़ाव के लिए अनुकूल माहौल बनाने के लिए विश्वसनीय कदम उठाने चाहिए. हम पड़ोसी हैं और हमेशा के लिए रहेंगे. चुनाव हमारा है कि हम शांति से रहें या एक-दूसरे से लड़ते रहें.Also Read – India-Pakistan Relation: विनाशकारी बाढ़ की तबाही झेल रहा है पाकिस्तान, विदेश मंत्री जरदारी ने भारत से दिखाई तल्खी

#WATCH | Pakistan PM Shehbaz Sharif rakes up Kashmir issue at #UNGA; , “…We look for peace with all our neighbours, incl India. Sustainable peace & stability in South Asia however remains contingent upon a just & lasting solution of Jammu & Kashmir dispute…”

(Source: UN TV) pic.twitter.com/kxmYV1EZQJ

— ANI (@ANI) September 23, 2022

Also Read – चार बार निकाह-चार बार तलाक, सोशल मीडिया पर क्यों हो रहे पाकिस्तानी एक्ट्रेस नूर बुखारी के चर्चे-PICS

भारत से दोस्ती चाहता है पाकिस्तान

शरीफ ने कहा कि साल 1947 के बाद से हमारे बीच 3 युद्ध हुए हैं और इसके परिणामस्वरूप दोनों तरफ केवल दुख, गरीबी और बेरोजगारी बढ़ी है. शांतिपूर्ण बातचीत और चर्चा के माध्यम से हम अपने मतभेदों, अपनी समस्याओं और अपने मुद्दों को हल करना अब हम पर निर्भर करता है. Also Read – India-Pakistan Relations: भारत ने पाकिस्तान को जमकर लगाई लताड़, कहा-शर्म आनी चाहिए, जानिए वजह

पाकिस्तानी पीएम ने कहा कि मुझे लगता है कि अब समय आ गया है कि भारत इस संदेश को समझे कि दोनों देश एक दूसरे से जुड़े हुए हैं. युद्ध कोई विकल्प नहीं है, केवल शांतिपूर्ण बातचीत से ही मुद्दों का समाधान हो सकता है, ताकि आने वाले समय में दुनिया और अधिक शांतिपूर्ण हो सके.

पाकिस्तान के बाढ़ की चर्चा की

पाकिस्तान के प्रधान मंत्री शहबाज शरीफ ने शुक्रवार को जलवायु आपदा के प्रभाव के कारण अपने देश में बाढ़ से हुई तबाही पर प्रकाश डाला और वैश्विक नेताओं से मदद का आग्रह किया. संयुक्त राष्ट्र महासभा के मंच से एक भावुक संबोधन में कहा, “पाकिस्तान में जो हुआ है उससे 33 मिलियन लोगों का जीवन “हमेशा के लिए बदल गया है.”

ऐसी बाढ़ अबतक किसी ने नहीं देखी “40 दिनों और 40 रातों के लिए, हम बाढ़ से जूझते रहे. आज भी, देश के बड़े हिस्से पानी से घिरे हैं. महिलाओं और बच्चों सहित 33 मिलियन लोगों को स्वास्थ्य के लिए खतरा है.  400 बच्चों सहित 1,500 से अधिक लोग मारे गए हैं. हमें मदद की दरकार है.

Related Articles

Stay Connected

1,520FansLike
4,561FollowersFollow
0FollowersFollow

Latest Articles