10.4 C
New York
Wednesday, February 8, 2023

Russia-Ukraine War: पुतिन के ऐलान से रूस में हड़कंप, देश छोड़कर भाग रहे लोग, गाड़ियों की लंबी लाइन लगी-देखें VIDEO

Russia-Ukraine War: यूक्रेन के खिलाफ जारी जंग के बीच रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने आंशिक सैन्य लामबंदी (Partial Military Mobilization) मोबिलाइजेशन यानी रिजर्व में लाखों सैनिक जुटाने का ऐलान किया था. जिसके बाद रूस में हड़कंप मचा है. एक तरफ तो रूस की सरकार का दावा है कि करीब 10000 लोग अपनी इच्छा से सेना में भर्ती होने के लिए सामने आए हैं. तो वहीं, एएफपी समाचार एजेंसी की खबरों के मुताबिक कई रूसी नागरिक इस डर से देश छोड़ने लगे हैं कि उन्हें कहीं जंग में उतरना न पड़े. रूस से फिनलैंड भाग रहे लोगों की गाड़ियों की लंबी कतारें लगी हैं.Also Read – रूसी सेना ने राष्ट्रपति जेलेंस्की के गृहनगर में हमले तेज किए, यूक्रेन कर रहा जवाबी कार्रवाई

लोग कह रहे-हम इस मूर्खतापूर्ण युद्ध का हिस्सा नहीं बनेंगे

रूस की सेना ने कहा कि पुतिन के ऐलान के बाद 24 घंटे में 10 लाख लोग सेना से जुड़ने के लिए आगे आए समाचार एजेंसी एएफपी से बातचीत में अरमेनिया भाग रहे दिमित्री नाम के शख्स ने बताया, मैं युद्ध में नहीं जाना चाहता. मैं इस मूर्खतापूर्ण युद्ध में नहीं लड़ना चाहता हूं. हालांकि, रूस का कहना है कि नागरिकों के देश छोड़ने संबंधी खबरें बढ़ा चढ़ा कर दिखाई जा रही हैं. Also Read – पुतिन ने यूक्रेन के चार इलाकों का विलय किया, समझें- कैसे रूस की पकड़ हो सकती है कमजोर

“I don’t want to go to the war. I don’t want to die in this senseless war.”

Russians flee abroad after Putin’s call to mobilise several hundred thousand reservists to join the war in Ukrainehttps://t.co/xF5O9LRTgJ

📹 Long line of cars crossing from Russia into Finland pic.twitter.com/UaA5awe6jd

— AFP News Agency (@AFP) September 23, 2022

Also Read – Russia-Ukraine-Conflict: अमेरिका ने यूक्रेन को दिया ‘हवाई सुरक्षा सिस्टम’ अब क्या होगा रूस का अगला कदम | Watch Video

यूक्रेन के चार राज्यों में हो रहा जनमत संग्रह

पुतिन का 3 लाख सैनिकों की लामबंदी का ऐलान ऐसे वक्त पर आया, जब रूस यूक्रेन के चार हिस्सों को मिलाने की तैयारी में है. इसके लिए रूस शुक्रवार से इन इलाकों में जनमत संग्रह शुरू कराने जा रहा है. इन इलाकों में रहने वाले लोग 23-27 सितंबर के बीच अपना वोट डाल सकेंगे.

यूक्रेन के मास्को-आयोजित क्षेत्रों ने जनमत संग्रह में रूस का हिस्सा बनने के लिए मतदान शुरू कर दिया है, जिसकी कीव और उसके सहयोगियों ने अवैध भूमि हड़पने के रूप में निंदा की है. रूस के कब्जे पर जनमत संग्रह मास्को द्वारा नियंत्रित यूक्रेनी क्षेत्र में शुरू होता है, रूसी समाचार एजेंसियों की रिपोर्ट है कि कीव और पश्चिम ने “झूठे” वोट के रूप में निंदा की है. मतदान 0500 GMT पर शुरू हुआ और रूसी सैनिकों द्वारा नियंत्रित चार क्षेत्रों में मंगलवार को समाप्त होने वाला है.

कैलिनिनग्राद में रहने वाले एक अन्य व्यक्ति ने बीबीसी को बताया कि ड्राफ्ट से बचने के लिए कुछ भी करेगा. उसने कहा, मैं अपना हाथ तोड़ दूंगा, मेरा पैर तोड़ दूंगा, मैं जेल जाऊंगा, इस चीज से बचने के लिए कुछ भी करूंगा.”

Related Articles

Stay Connected

1,520FansLike
4,561FollowersFollow
0FollowersFollow

Latest Articles