6.1 C
New York
Monday, February 6, 2023

टोयोटा ने लिया बड़ा फैसला, अब इस देश में बंद कर दिया काम, दोबारा शुरू करने का प्लान भी नहीं

दिग्गज कार निर्माता कंपनी टोयोटा (Toyota Motor) ने एक बड़ा फैसला लिया है. अब टोयोटा रूस में स्थित अपने प्लांट को स्थायी रूप से बंद कर देगी. टोयोटा के इस फैसले के पीछे यूक्रेन-रूस के बीच चल रहा युद् है. इन दोनों देशों के बीच चलने वाले तनाव के चलते कई कार कंपनियों को पूर्व में बीच-बीच में कुछ समय के लिए अपने प्लांटों में प्रॉडक्शन रोकना पड़ा है. अब टोयोटा ने शुक्रवार देर रात अपने प्लांट को बंद करने के फैसले की पुष्टि की.Also Read – रूसी सेना ने राष्ट्रपति जेलेंस्की के गृहनगर में हमले तेज किए, यूक्रेन कर रहा जवाबी कार्रवाई

समाचार एजेंसी रॉयटर्स की मानें तो टोयोटा ने रूस में वाहन उत्पादन को स्थायी रूप से बंद करने का फैसला किया है. एक बात ध्यान देने वाली है कि रूस में अपना प्रॉडक्शन बंद करने से पहले तक टोयोटा के पास रूस में किसी भी अन्य जापानी ब्रांड की तुलना में देश में सबसे बड़ी बाजार हिस्सेदारी थी. Also Read – लुक, फीचर्स के मामले में किसी पेट्रोल कार से कम नहीं होंगी ये CNG कार, जानें कब तक होंगी लॉन्च

टोयोटा ने 2007 में रूस में स्थानीय रूप से कारों का निर्माण शुरू किया था. रूस के सेंट पीटर्सबर्ग में टोयोटा ने अपना प्लांट लगाया था और इस प्लांट में टोयोटा की RAV4 SUV और कैमरी सेडान बनाती थी. पिछले साल, टोयोटा ने 80,000 वाहनों का निर्माण किया और रूस में 110,000 यूनिट्स बिक्री की थी. Also Read – दिवाली में है फैमिली को कार गिफ्ट करने की तैयारी, 10 से 12 लाख के बजट में आती हैं ये बेहतरीन कारें

हालांकि टोयोटा ने अभी तक सेंट पीटर्सबर्ग प्लांट में काम करने वाले अपने कर्मचारियों के भविष्य के बारे में कोई फैसला नहीं किया है. टोयोटा ने यह भी पुष्टि की है कि अपने प्लांट को बेचने की अभी उसकी कोई योजना नहीं है.

टोयोटा ने एक बयान जारी कर कहा, छह महीने के बाद, हम अपने प्रॉडक्शन से जुड़े कार्यों को सामान्य रूप से बहाल नहीं कर पाए हैं और अभी ऐसी कोई संभावना भी नहीं दिख रही है कि हम इसे जल्द शुरू कर सकेंगे.

हालांकि टोयोटा ने रूस के अपने ग्राहकों को आश्वासन दिया है कि वह रूस में अपने रिटेल नेटवर्क को सपोर्ट देती रहेगी और और अपने मौजूदा ग्राहकों को सर्विसिंग सुविधाएं भी देगी.

रूस ने जबसे यूक्रेन पर हमला किया है तब से रूस का ऑटोमोबाइल सेक्टर तो प्रभावित हुआ ही है और इसके साथ-साथ भारत जैसे देशों पर भी इन देशों के तनाव का प्रभाव पड़ा है. रूस द्वारा यूक्रेन पर किए गए हमले से भारत में सेमीकंडक्टर चिप की सप्लाई ठीक ढंग से नहीं हो पा रही है.

Related Articles

Stay Connected

1,520FansLike
4,561FollowersFollow
0FollowersFollow

Latest Articles